आईपीएस ऑफिसर कैसे बनें( How to become IPS Officer.

आईपीएस  ऑफिसर कैसे बनें(How to become IPS Officer).
                     jobkaisepaye.com

आईपीएस ऑफिसर कैसे बनें (How to become IPS Officer). योग्यता भर्ती , एग्जाम का शेड्यूल क्या है ,आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए  कितने विषयों का अध्ययन करना होता है | आईपीएस की तैयारी  के लिए कितने पड़ाव पार करने होते है और इंटरव्यू एवं अप्लाई करने की पूरी प्रक्रिया की जानकारी हिंदी में .
हर माता-पिता का सपना होता है कि उनका बच्चा बड़ा होकर आईपीएस ऑफिसर ,डॉक्टर या इंजीनियर बनें.अगर आपने भी कोई एेसा सपना देखा है और आप भी अपने माता -पिता का सपना साकार करना चाहते है और आईपीएस ऑफिसर बनना चाहते है तो आपको जी-जान से इसकी  तैयारी में लग जाना होगा क्योंकि आईपीएस ऑफिसर का पद अपने आप में एक प्रतिष्ठित पद है और इसको पाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी | अगर आपमें देशप्रेम की भावना कूट-कूटकर भरी हुई है तो यकीन मानिए यह पद आपके लिए उपर्युक्त है | इस आर्टिकल में मैं बताऊँगी कि 'आईपीएस ऑफिसर कैसे बनें (How to become a IPS Officer).तो आइए जानें कि...........


संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की ओर से हर साल आयोजित होनेवाली सिविल सेवा परीक्षा देश की सर्वाधिक प्रतिष्ठित परीक्षाओं में से एक है.इस परीक्षा के जरिये चयनित अभ्यर्थियों को भारत सरकार की प्रशासनिक व अन्य सेवाओं में नियुक्तियां दी जाती हैं. यह एकमात्र ऐसी परीक्षा है, जिसमें सफल होने के बाद विभिन्न क्षेत्रों में प्रशासन के उच्च पदों पर आसीन होने और नीति-निर्माण में प्रभावी भूमिका निभाने का मौका मिलता है.सिविल सेवा परीक्षा को लेकर युवाओं के मन में कई तरह के सवाल होगें उन सारे सवालों का जबाब आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगा | आपको बस जरूरत है तो ध्यान से इस आर्टिकल को पढ़ने का.

*  परीक्षा के लिए योग्यताएं:-

परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थियों के पास मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय की डिग्री या समकक्ष योग्यता होनी चाहिए.वैसे, यहां कोई न्यूनतम अंक प्रतिशत निर्धारित नहीं है, जिसका उद्देश्य  सभी तरह के छात्रों को इस परीक्षा में शामिल होने का अवसर प्रदान करना है. आप परीक्षा हिंदी और अँग्रेजी किसी भी माध्यम में दे सकते है| उम्मीदवार की आयु 21 से 32 वर्ष के बीच होनी चाहिए. अन्य पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जनजाति को अधिकतम आयु सीमा में नियमानुसार छूट दी जायेगी.

* परीक्षा पैटर्न :-

सिविल सेवा परीक्षा तीन चरणों -प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू के माध्यम से होती है.प्रारंभिक परीक्षा एक स्क्रीनिंग टेस्ट है, जिसकी प्रकृति वस्तुनिष्ठ एवं वैकल्पिक प्रकार की होती है.इसका उद्देश्य अभ्यर्थी के अध्ययन की व्यापकता एवं तत्काल निर्णय लेने की क्षमता को जांचना है.दूसरा चरण मुख्य परीक्षा का है ,जो एक लिखित परीक्षा है. इसके तहत अभ्यर्थी के अध्ययम की गहराई एवं विश्लेषण क्षमता का परीक्षण होता है. परीक्षा के अंतिम चरण में इंटरव्यू के जरिये अभ्यर्थी के व्यक्तित्व के गुणों और समसामयिक विषयों के प्रति समझ व जागरूकता की जाँच की जाती है.

* प्रारंभिक परीक्षा :-

प्रारंभिक परीक्षा त्रि-स्तरीय सिविल सेवा परीक्षा का पहला और सबसे महत्वपूर्ण पड़ाव है. इसमें 200-200 अंको के दो प्रश्नपत्र होते हैं, जिनकी  अवधि दो-दो घंटे की होती है. प्रथम प्रश्नपत्र  सामान्य अध्ययम का होता है, जिसमें इतिहास, भूगोल, राज-व्यवस्था,सामान्य विज्ञान,अर्थव्यवस्था ,पर्यावरण एवं समसामयिक घटनाओं आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं.प्रत्येक प्रश्न के लिए दो अंक निर्धारित हैं और प्रत्येक गलत उतर के लिए 1/3 अंक काटे जाते हैं.प्रारंभिक परीक्षा का दूसरा पेपर सीसैट है .इस पेपर में बोधगम्यता,संचार कौशल सहित अंतर-वैयक्तिक कौशल, तार्किक कौशल एवं विश्लेषणात्मक क्षमता, निर्णयन और समस्या-सामाधान, सामान्य मानसिक योग्यता आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते है.प्रारंभिक परीक्षा के अंक मुख्य परीक्षा में नहीं जोड़े जाते.

*  नौ  प्रश्नपत्रों का होता है मेंस :-

रीक्षा के दूसरे एवं सर्वाधिक महत्वपूर्ण चरण में अभ्यर्थियों के ज्ञान की वास्तविक परीक्षा होती है़.इसमें कुल 1750 अंकों के 9 प्रश्नपत्र (सामान्य अध्ययन के 4 पेपर, किसी एक वैकल्पिक विषय के 2 पेपर एवं निबंध, सामान्य अंग्रेजी व हिंदी के 1-1 पेपर) होते हैं.इसमेें से सामान्य अंग्रेजी और हिंदी पेपर के अंक कुल पूर्णांक में नहीं जुड़ते हैं.


*   इंटरव्यू :-

यह सिविल सेवा परीक्षा का अंतिम चरण है.इसमें अभ्यर्थी के बायो डाटा, उनके वैकल्पिक विषय,अभिरूचियों सम-सामयिक राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय घटनाओ से संबंधित प्रश्न पूछे जाते है.पहला साक्षात्कार 300 अंको का होता था,अब इसे घटाकर 225 अंकों का कर दिया गया है.साक्षात्कार में अभ्यर्थी के ज्ञान से ज्यादा,उसकी प्रस्तुति, आत्मविश्वास एवं महत्वपूर्ण मामलों पर विचारों की परख की जाती है.


* अप्लाई कैसे करें :-

यूपीएससी की वेबसाइट www.upsconline.nic.in पर जाकर 24 मार्च,2021 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते है.

परीक्षा की तिथि :-

27 जून ,2021 तक है |

अंतिम शब्द (Last wor):-

दोस्तों आपको यह पोस्ट आईपीएस ऑफिसर कैसे बनें (How to become IPS Officer ). कैसी लगी हमें  जरूर  बताइएगा और अगर पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक,कमेंट और शेयर जरूर कीजिएगा |

         Thank you.

Tags:- Educational tips.