सिविल इंजीनियर कैसे बनें (How to become a Civil engineer)

How to become a Civil engineer, Civil engineer kaise bane, Civil engineer banne ke liye kya yogyata (Eligibility) honi chahiye, puri jankari hindi me.

सिविल इंजीनियर कैसे बनें, सिविल इंजीनियर बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए, इसके लिए कौन-सा कोर्स करना पड़ता है, एक सिविल इंजीनियर का वेतन कितना होता है, सिविल इंजीनियर बनने के लिए अप्लाई कैसे करें, पूरी जानकारी हिंदी में.

नमस्तें दोस्तों, आज मैं आपको इस आर्टिकल में- सिविल इंजीनियर कैसे बनें (How to become a civil engineer), सिविल इंजीनियर बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए, आदि के बारे में बताउंगी.

हर माता-पिता की ख्वाहिश होती है कि उनका बच्चा बड़ा होकर एक बड़ा आदमी बनें और अपने जीवन में वो एक अच्छा मुकाम हासिल करे. हर माता-पिता अपनी हैसियत से बढ़कर अच्छी पढाई अपने बच्चों को करवाना चाहते है, ताकि वे अपने बच्चें को अपने पैरो पर खड़ा देख सके. इसके लिए वह कुछ सपने देखते है, उनके उन सपनों में एक सपना होता है कि उनका बच्चा बड़ा होकर डॉक्टर या इंजीनियर बनें.

अगर आपने भी अपने बच्चे के लिए कोई ऐसा सपना देखा है कि आपका बच्चा इंजीनियर बनें या फिर आपने कभी अपने बच्चें के स्कूली जीवन के दौरान कहा है कि बेटा तू एक दिन बड़ा होकर इंजीनियर बनेगा. तो यकीन मानिए कि ये बात आपके बच्चें के मन में घर कर रही होगी. आपको जरूरत है तो बस इस बात की कि आप उसके सपनों को पहचानें और सही समय पर उनके सपनों को उड़ान दे. 

इसके लिए आपको परेशान या कहीं जाने की जरूरत नहीं है. मैं आपको घर बैठे इस आर्टिकल के माध्यम से बताऊँगी कि सिविल इंजीनियर क्या होता है तथा सिविल इंजीनियर कैसे बनें (How to become a civil engineer). तो आइए जानते है, इसके बारे में.

सिविल इंजीनियरिंग एक प्रोफेशनल इंजीनियरिंग कोर्स है, इस कोर्स को सफलतापूर्वक पूर्ण करने के पश्चात आप सिविल इंजीनियर बन सकते है. एक सिविल इंजीनियर का कार्य कंस्ट्रक्शन, रोड, बिल्डिंग, घर बनाना, बाँध बनाना इत्यादि के डिजाइन तैयार करना होता है. यह अपने आप में महत्वपूर्ण और जिम्मेदारी का कार्य है.

सिविल इंजीनियरिंग आप दो तरीके से कर सकते है:- पहला- डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियरिंग और दूसरा- डिग्री इन सिविल इंजीनियरिंग.

डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियर तीन वर्ष का कोर्स होता है, जिसे करने के बाद आप जूनियर सिविल इंजीनियर बनेंगे. डिग्री इन सिविल इंजीनियरिंग यह चार वर्ष का कोर्स होता है, इसको करने के बाद आप सिविल इंजीनियर बन जायेगे.


योग्यता :-

1) डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियरिंग की योग्यता :-

डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियरिंग करने के लिए आपको सेंकेडरी स्कूल से उतीर्ण होना होगा ,इसके बाद ही आप पॉलिटेक्निक से इस डिप्लोमा कोर्स को कर सकते हैं |

2) डिग्री इन सिविल इंजीनियरिंग की योग्यता:-

डिग्री इन सिविल इंजीनियरिंग में प्रवेश पाने के लिए आपको 10+2 में विज्ञान वर्ग से पीसीएम ग्रुप ( मैथ्स, फिजिक्स,केमेस्ट्री ) के साथ करना जरूरी है और आपका इंटर में 60 प्रतिशत अंक होने चाहिए | जिससे आप सिविल इंजीनियरिंग के एंट्रेंस एग्जाम (IIT, AIEEE) के लिए eligible हो सके |


* सिविल इंजीनियर  बनने के लिए विषयों का चयन कैसे करें:-

सिविल इंजीनियरिंग  करने के लिए विषय इस प्रकार के है, जिनका चुनाव आप अपनी मर्जी से कर सकते है |

* कोस्टल इंजीनियरिंग

* स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग

* कंस्ट्रक्शन इंजीनियरिंग 

* अर्थक्वेक  इंजीनियरिंग

* एन्विरोमेंट इंजीनियरिंग

* फॉरेसिक इंजीनियरिंग

* जिओटेकनिकल इंजीनियरिंग

* मटेरियल साइंस इंजीनियरिंग

* आउटसाइड प्लांट इंजीनियरिंग


* सिविल इंजीनियरिंग बैचलर डिग्री :-

कॉलेज में प्रवेश प्राप्त करने के बाद आपको चार साल तक सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करनी होगी और इसमें आपको घर के नक्शे और डिजाइन के विषय में जानकारी दी जायेगी ,इसके साथ ही आपको सिविल इंजीनियरिंग में बारीक और महत्वपूर्ण बिंदुओं की भी जानकारी दी जाएगी | एक अच्छा एवं सफल सिविल इंजीनियर बनने के लिए आपको अच्छे अंक प्राप्त करने होगें |


 क्या करना होगा सिविल इंजीनियर बनने के लिए :-


सिविल इंजीनियर बनने के लिए कुछ पड़ाव पार करने होगें |वे पड़ाव आप नीचे पढ़ सकते है :-


* इंटरमीडिएट :-

आपको इंटरमीडियट विज्ञान वर्ग में पीसीएम ग्रुप (मैथ्स, फिजिक्स,केमेस्ट्री ) में 60 प्रतिशत अंको के साथ उतीर्ण होना अनिवार्य है |

* एंट्रेंस  एग्जाम :-

आप आईआईटी (IIT ),एआईइइइ (AIEEE) जो ऑल इंडिया लेवल पर एग्जाम होती है और आप इसमें भाग ले सकते है ,यदि आप इसमें उतीर्ण हो जाते है ,तो आपको अच्छे कॉलेज में प्रवेश मिल जाएगा और इसके अलावा आप राज्य स्तरीय परीक्षा में भी भाग लेकर कॉलेज में प्रवेश पा सकते है | इसके लिए कॉलेज सीधे एडमिशन भी देती है | लेकिन इस तरह से फीस बढ़ जाती है |
          यदि आप एंट्रेंस एग्जाम पास कर लेते है,तो आपको इसके बाद कॉउंसलिंग में भाग लेना होगा |आपके अंक जितने अच्छे होंगे उतना ही अच्छा कॉलेज मिलने की possibility बढ़ जाती है |


इंटर्नशिप :-

सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री लेने के बाद आपको कुछ साल का इंटर्नशिप करना होगा जिससे आपको Experience प्राप्त हो सके ,इसके लिए आपको किसी प्रोफेशनल सिविल इंजीनियर के साथ कार्य करना होगा तथा Experience हासिल करना होगा, सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री लेने के बाद यदि आप किसी कंपनी में अप्लाई करते हो तो आपसे Experience certificate मांगा जाता है ,जो इंटर्नशिप करने से मिलता है ,इसलिए इंटर्नशिप अति आवश्यक होता है |


लाइसेंस और सर्टिफाइड के लिए आवेदन करे ः-

सिविल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अनुभव को प्राप्त करने के बाद आपको लाइसेंस के लिए आवेदन करना होगा | लाइसेंस प्राप्त करने के बाद आप एक सर्टिफाइड सिविल इंजीनियर बन सकते है | इस प्रकार आप एक सफल सिविल इंजीनियर बन सकते है |


सिविल इंजीनियर (Civil Engeneer ) कैसे बनें ,की पूरी जानकारी हिंदी में.

मुझे उम्मीद है दोस्तों की आपको ये आर्टिकल पढ़ने में मजा आया होगा और इंजीनियरिंग क्षेत्र के बारें में पूरी जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से मिली होगी | मैने इस आर्टिकल में सारा कुछ बताने की पूरी कोशिश की है ताकि आपको हर एक चीज की जानकारी मिल सके इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद |
            मुझे हमेशा यही आशा रहती है कि जो भी jobkaisepaye.com पर आये उन्हें अपने सवालों का जबाब मिल सके |तो दोस्तों यह आर्टिकल कैसी लगी आपको हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताइएगा |

               Thank   you.

Tags:- Education tips ,How to become Civil engeneer.