IBPS के माध्यम से बैंक में नौकरी कैसे पाए - How to get a bank job through IBPS  

IBPS के माध्यम से बैंक में नौकरी कैसे पाए - How to get a bank job through IBPS

IBPS क्या है, (ibps kya hai), बैंक में नौकरी पाने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए, IBPS किस बैंक से संबंधित हैं, IBPS की लिखित परीक्षा का पाठ्यक्रम क्या है.

How to get a bank job through IBPS

IBPS की जानकारी 

देश में कई बेरोजगार युवा हैं, जो विभिन्न विभागों में नौकरी पाने के लिए बहुत अच्छी तैयारी कर रहे हैं. बिजली विभाग, वन विभाग, पुलिस विभाग और बैंक विभाग, इन सभी विभागों की तैयारी करते है, इसलिए आज हम आपको इस लेख में सरकारी नौकरियों से संबंधित जानकारी बताने जा रहे हैं.

IBPS का पूर्ण रूप ''इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनल सेलेक्शन'' है. आईबीपीएस एक चयन संस्थान है और यह संस्थान 1975 में स्थापित किया गया था, इसके माध्यम से बैंक में नए कर्मचारियों की भर्ती की जाती है.

बैंकिंग सेक्टर में देश में सबसे ज्यादा नौकरियां हैं. IBPS संस्थान पब्लिक बैंक में विभिन्न पदों की भर्ती करता है, जैसे RRB, PO, Clerk, इन सभी पदों के लिए परीक्षा आयोजित करता है. और इसके माध्यम से, सार्वजनिक बैंक में नए कर्मचारीयों को भर्ती करता है.

भारत में 19 सार्वजनिक और ग्रामीण बैंकों के लिए नए कर्मचारियों की चयन और भर्ती प्रक्रिया आईबीपीएस के माध्यम से की जाती है. इस चयन प्रक्रिया को पास करने के लिए उम्मीदवार को तीन चरणों को पास करना पड़ता है. 

IBPS के माध्यम से बैंक में नौकरी कैसे प्राप्त करें, हम इस लेख के माध्यम से बताने जा रहे हैं, दोस्तों यह सब जानकारी जानने के लिए कृपया इस लेख को अंत तक पढ़ें.

IBPS के 19 सार्वजनिक और ग्रामीण बैंकों की सूची

(1) Andhra Bank 
(2) Allahbaad Bank
(3) Bank Of India 
(4) Baroda bank 
(5) Canara Bank
(6) Central Bank of india 
(7) Corporation Bank 
(8) Dena Bank 
(9) Indian Bank 
(10) Indian overseas Bank 
(11) Maharashtra Bank 
(12) Oriantal Bank of Commerce 
(13) Panjab National Bank 
(14) Syndicate Bank 
(15) Union bank 
(16) United Bank of India 
(17) Uco Bank 
(18) Vijay Bank 
(19) Panjab and sind Bank

IBPS हर साल बैंक में विभिन्न पदों के लिए भर्ती करता है. उम्मीदवार अपनी क्षमता के अनुसार पदों के लिए आवेदन कर सकता है.

IBPS के पद और उनके लिए आवश्यक योग्यता

(1) ऑफिस असिस्टेंट (मल्टीपर्पज) - किसी भी शाखा में पदवीधर होना चाहिए.
(2) अधिकारी स्केल I (सहायक प्रबंधक) - किसी भी शाखा में पदवीधर होना चाहिए.
(3) अधिकारी स्केल II (कृषि अधिकारी) - (i) कृषि, बागवानी, डेयरी, पशुपालन, वानिकी, पशु चिकित्सा विज्ञान,  कृषि इंजीनियरिंग, मछली पालन की डिग्री या 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण होना चाहिए. (ii) 2 साल का अनुभव होना चाहिए.
(4) अधिकारी स्केल II (विपणन अधिकारी) - एमबीए (मार्केटिंग) उत्तीर्ण तथा 1 साल का अनुभव होना चाहिए. 
(5) अधिकारी स्केल II (ट्रेजरी मैनेजर) - सीए, एमबीए (फाइनेंस) उत्तीर्ण एव 1 साल का अनुभव होना चाहिए. 
(6) अधिकारी स्केल II (लॉ) - 50% अंको के साथ नियम डिग्री (LLB) उत्तीर्ण होना चाहिए, तथा 2 साल का अनुभव होना चाहिए.
(7) अधिकारी स्केल II (CA) - सीए उत्तीर्ण एव 1 साल का अनुभव होना चाहिए. 
(8) अधिकारी स्केल II (आईटी) - इलेक्ट्रॉनिक्स, संचार, कंप्यूटर विज्ञान, आईटी डिग्री 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण एव 1 साल का अनुभव होना चाहिए.
(9) अधिकारी स्केल II (सामान्य बैंकिंग अधिकारी) - 50% अंकों के साथ किसी भी शाखा में डिग्री उत्तीर्ण तथा 2 साल का अनुभव होना चाहिए.
(10) ऑफिसर स्केल III (सिनिअर मॅनेजर) - 50% अंकों के साथ किसी भी शाखा में डिग्री और 5 साल का अनुभव होना चाहिए.

IBPS पदों की आयु सीमा

IBPS के पदों के लिए आयु सीमा उनके पदों के अनुसार है.

IBPS पदों की चयन प्रक्रिया

पहिला चरण

प्रारंभिक परीक्षा
पहले चरण में, उम्मीदवार की ''प्रारंभिक परीक्षा'' (Preliminary Exam) होती है. उम्मीदवारों से उनके चयन किये गए पद के अनुसार प्रश्न पूछे जाते हैं और यह परीक्षा 45 मिनट की होती है. इस परीक्षा में अंग्रेजी के 40 प्रश्न और रीजनिंग के 40 प्रश्न पूछे जाते हैं. 

अगले चरण में आगे बढ़ने के लिए इस परीक्षा को पास करना अनिवार्य है. इस परीक्षण का परिणाम प्रतिशत में कमी पर निर्भर करता है.

द्वितीय चरण 

मुख्य परीक्षा
प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद, उम्मीदवार को ''मुख्य परीक्षा'' (Main exam) के लिए चुना जाता है. मुख्य परीक्षा बहुत कठिन होती है. मुख्य परीक्षा को उत्तीर्ण करने के लिए, उम्मीदवार को परीक्षा के सभी विषयों का ज्ञान होना चाहिए और विषय की अच्छी समझ होनी चाहिए, ताकि उम्मीदवार पुरे विश्वास के साथ परीक्षा दे सके. 

मुख्य परीक्षा 200 अंकों की होती है जिसमें अंग्रेजी 40 गुण, हिंदी 40 गुण, कंप्यूटर ज्ञान 40 गुण, संख्यात्मक क्षमता 40 गुण, सामान्य जागरूकता 40 गुण, इन सभी विषय के प्रश्न होते हैं. और चार गलत उत्तरों पर एक अंक कम किया जाता है.

मुख्य परीक्षा पास करने के लिए परीक्षा में अच्छे अंक आने चाहिए. मुख्य परीक्षा परिणामों में, उच्च अंक वाले उम्मीदवार पास होते हैं. मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले 80% उम्मीदवार नौकरी के लिए कन्फर्म हो जाते हैं.

तृतीय चरण 

साक्षात्कार
मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले उम्मीदवार को ''साक्षात्कार'' (interview) के लिए बुलाया जाता है ताकि यह देखा जा सके कि उम्मीदवार में आत्मविश्वास, प्रतिभा, ज्ञान यें सभी गुण है या नहीं, इन तीन गुणों के आधार पर, उम्मीदवार को चयनित पद पर नियुक्त किया जाता है.