कंप्यूटर उपकरणों के बारे में जानकारी - Information about computer equipment  

कंप्यूटर उपकरणों के बारे में जानकारी - Information about computer equipment

कंप्यूटर का महत्वपूर्ण हिस्सा क्या है, (computer ka mahatvapoorn hissa kya hai), शैक्षणिक जीवन में कंप्यूटर उपकरणों के क्या लाभ हैं, कंप्यूटर इनपुट और आउटपुट डिवाइस का महत्व क्या है।

Information about computer equipment

कंप्यूटर उपकरणों के बारे में जानकारी

दोस्तों, आप सब कैसे है, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से कंप्यूटर के कुछ विशेष उपकरणों के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। कंप्यूटर के कौन से उपकरण काम करते हैं और उन उपकरणों का क्या उपयोग है, इनपुट और आउटपुट डिवाइस का नाम क्या है। इसके बारे में पूरी जानकारी जानने के लिए दोस्तों, इस लेख को अंत तक जरुर पढ़ें।

दोस्तों, कंप्यूटर हमारे शैक्षणिक जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। कंप्यूटर क्या होता है, आप सभी आज जानते हैं। आप में से ज्यादातर लोगों ने कंप्यूटर भी चलाया है और आपको यह भी पता होगा कि कंप्यूटर कैसे चलाना है। लेकिन उन लोगों के लिए जिन्होंने कभी कंप्यूटर नहीं देखा या चलाया है, उनके लिए यह लेख बहुत उपयोगी है। दोस्तों, आप सभी जानते हैं कि कंप्यूटर में विभिन्न प्रकार के उपकरण होते हैं। लेकिन हम सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले उपकरणों के बारे में जानकारी जानेंगे।

कंप्यूटर आउटपुट डिवाइस के नाम और जानकारी

(१) Screen Monitor- मॉनिटर यह एक आउटपुट डिवाइस है। यह एक कंप्यूटर सिस्टम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसका उपयोग हमें कंप्यूटर पर किए गए कार्यों को दिखाने के लिए किया जाता है, जैसे कि फिल्में देखना, गेम खेलना, लेख लिखना, शीट बनाना, फोटो बनाना, ये सभी कार्य मॉनिटर के माध्यम से किए जाते हैं। स्क्रीन, जिसे विज़ुअल डिस्प्ले यूनिट कहा जाता है, यह एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो दिखने में टीवी जैसा दिखता है, लेकिन सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट से जुड़ा होता है। कई प्रकार के मॉनिटर हैं, जैसे प्लाज्मा मॉनिटर, सीआरटी मॉनिटर, एलसीडी मॉनिटर, टीएफटी मॉनिटर और एलईडी मॉनिटर।

(२) Speaker- स्पीकर आउटपुट डिवाइस है जो सॉफ्ट कॉपी साउंड के रूप में मौजूद है। स्पीकर के माध्यम से हम कंप्यूटर पर सभी गाने, मूवी, गेम खेलने की आवाज़ सुन सकते हैं। ध्वनि उत्पन्न करने का मुख्य घटक ध्वनि कार्ड है जो कंप्यूटर के माध्यम से स्पीकर में आता है। स्पीकर का सबसे महत्वपूर्ण कार्य विद्युत चुम्बकीय तरंग को ध्वनि तरंग में बदलना है। कई प्रकार के स्पीकर हैं, जैसे पीसी स्पीकर, मल्टी-चैनल स्पीकर, स्टैंडर्ड स्पीकर, यूएसबी स्पीकर।

(३) Printer- प्रिंटर यह एक इलेक्ट्रॉनिक और आउटपुट डिवाइस है। प्रिंटर के माध्यम से, आप कंप्यूटर की सॉफ्ट कॉपी को हार्ड कॉपी में बदल सकते हैं। प्रिंटर में एक मेमोरी भी होती है जो दिए गए इमेज और टेक्स्ट को धीरे-धीरे से प्रिंट करती है। प्रिंटर में सेव किये डेटा को जैसे Text और Image को प्रिंटर एक पेज में Print करता है तथा प्रिंटिंग पेज का साइज़ छोटा या बड़ा कर सकते है। प्रिंटर के दो मुख्य प्रकार है।

प्रिंटर के दो मुख्य प्रकार
(१) Impact Printer- (1) Character- डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर, डेज़ी व्हील प्रिंटर
                                (2) Line- चैन प्रिंटर, ड्रम प्रिंटर
(२) Non-Impact Printer- लेजर प्रिंटर, फोटो प्रिंटर, इंकजेट प्रिंटर, थर्मल प्रिंटर, मल्टी फंक्शनल प्रिंटर, पोर्टेबल प्रिंटर

(४) Projector- प्रोजेक्टर एक आउटपुट डिवाइस है जो एक बड़ी सतह पर एक छवि दिखाता है। यह कंप्यूटर हार्डवेयर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जिसका उपयोग सफेद स्क्रीन पर किया जाता है। इसका उपयोग सिनेमा हॉल में अनगिनत लोगों को एक साथ फिल्में दिखाने के लिए किया जाता है। प्रोजेक्टर का उपयोग पावरपॉइंट प्रेजेंटेशन को प्रोजेक्ट करने के लिए भी किया जाता है। इसका उपयोग क्लास में कंप्यूटर सिखाने के लिए किया जाता है। प्रोजेक्टर का उपयोग किसी प्रोग्राम में किसी उत्पाद या सेवा को समझाने के लिए भी किया जाता है। कई प्रकार के प्रोजेक्टर हैं, जैसे एलईडी प्रोजेक्टर (लाइट एमिटिंग डायोड), एलसीडी प्रोजेक्टर (लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले), डीएलपी प्रोजेक्टर (डिजिटल लाइट प्रोसेसिंग)।

कंप्यूटर इनपुट डिवाइस के नाम और जानकारी

(१) CPU (Central Processing Unit)- CPU कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है साथ ही CPU को कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है। कंप्यूटर केवल CPU के माध्यम से काम करता है और CPU कंप्यूटर पर आने वाली सूचनाओं को संसाधित करता है। यह एक कंप्यूटर सिस्टम के सभी महत्वपूर्ण कार्यों को संचालित करता है जैसे कि अंकगणित, तार्किक और इनपुट / आउटपुट डिवाइस। कंप्यूटर का सारा डाटा CPU में सेव होता है।
CPU के महत्वपूर्ण भागों का नाम- (1) ALU (अंकगणितीय तर्क इकाई), (2) मेमोरी, (3) CU (कंट्रोल यूनिट)

(२) Keyboard- कीबोर्ड इनपुट डिवाइस है। कीबोर्ड के माध्यम से सभी प्रकार के डेटा को कंप्यूटर में डाला जा सकता है। कंप्यूटर का मुख्य उपकरण कीबोर्ड है और कीबोर्ड में 105 key होती हैं। अलग-अलग कंपनियों में कीबोर्ड में बहुत अंतर होता है, क्योंकि कीबोर्ड की संख्या बदल जाती है।
कीबोर्ड के दो प्रकार के होते हैं- (1) केबल with कीबोर्ड, (2) वायरलेस कीबोर्ड

(३) Mouse- माउस यह एक इनपुट डिवाइस है और माउस का असली नाम Pointing Device है। बाएं, दाएं और मध्य को मिलाकर कूल 3 key होती है। कंप्यूटर को चलाने के लिए माउस का उपयोग किया जाता है। माउस का उपयोग फ़ाइलों को खोलने या फ़ोल्डर का चयन करने के लिए किया जाता है। माउस का उपयोग और कई अन्य कार्यों के लिए किया जाता है। माउस की Left key बहुत ही महत्वपूर्ण होती है, माउस का अधिकतर उपयोग Left key का होता है, जैसे फाइलों को चुनने और उन्हें खोलने के लिए डबल-क्लिक करना, और कई कार्यों के लिए Left key का उपयोग किया जाता है। माउस कई प्रकार के होते हैं, जैसे मैकेनिकल माउस, ऑप्टिकल माउस, वायरलेस माउस, ट्रैकबॉल माउस, स्टाइलस माउस।

कंप्यूटर के अतिरिक्त भागों के नाम

(१) VGA Cable- वीजीए का पूर्ण रूप "वीडियो ग्राफिक ऐरे" है। वीजीए कनेक्टर और केबल एक साथ जुड़े हुए हैं, ताकि आप अपने कंप्यूटर के डिस्प्ले पर आउटपुट प्राप्त कर सकें। कंप्यूटर मदरबोर्ड और कंप्यूटर मॉनिटर को एक साथ जोड़ने के लिए वीजीए केबल और कनेक्टर दोनों होना चाहिए। वीजीए केबल आपको अपने कंप्यूटर मॉनिटर, प्रोजेक्टर और टीवी को आसानी से कंप्यूटर से कनेक्ट करने की अनुमति देता है।

(२) Power Cable- पावर केबल एक केबल होती है जो कंप्यूटर को पावर सप्लाई करती है। इस केबल के बिना कंप्यूटर शुरू नहीं किया जा सकता है। एक पावर केबल को सीपीयू और एक पावर केबल को मॉनिटर में प्लग किया जाता है।

(३) UPS (Uninterruptible Power Supply)- कंप्यूटर के लिए इसका इस्तेमाल करना बहुत जरूरी है। यदि आप कंप्यूटर पर काम कर रहे हैं और उसी समय बिजली चली जाती है, तो आपका कंप्यूटर कुछ समय के लिए यूपीएस के माध्यम से जारी रहेगा। यूपीएस से मॉनिटर स्क्रीन को क्षतिग्रस्त होने की संभावना कम है। कंप्यूटर में पावर अस्थिरता को नियंत्रित करके यूपीएस कंप्यूटर में सभी प्रकार के नुकसान को नियंत्रित करता है। 
UPS के दो प्रकार है- (1) Standby UPS (2) Line Interactive UPS