प्रधानमंत्री कुसुम योजना का क्या लाभ है - What is the benefit of Prime minister Kusum Yojana

प्रधानमंत्री कुसुम योजना का क्या लाभ है - What is the benefit of Prime minister Kusum Yojana

प्रधानमंत्री कुसुम योजना का क्या लाभ है, (pradhan mantri kusum yojana ka kya laabh hai), प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लिए क्या योग्यता आवश्यक है, और प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लिए आवेदन कैसे करें।

What is the benefit of Prime minister Kusum Yojana

प्रधानमंत्री कुसुम योजना की जानकारी 

नमस्कार दोस्तों, आज हम इस लेख में प्रधानमंत्री कुसुम योजना के बारे में सारी जानकारी जानेंगे। इस योजना में किसानों को किस तरह के उपयोगी लाभ प्रदान किए जाएंगे। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किन शर्तों को लागू किया गया है। हम इस योजना के उद्देश्य के बारे में जानकारी जानेंगे। तो आप सभी इस लेख को पूरा पढ़े।

दोस्तों, भारत एक कृषि प्रधान देश है। भारत गाँवों का देश है क्योंकि इस देश की 80% आबादी गाँवों में रहती है। किसानों का मुख्य व्यवसाय खेती है। देश के किसान का जीवन बहुत कठिन और मूल्यवान है। किसान एक ऐसा व्यक्ति है जो मिट्टी के बहुत करीब रहता है। जो एक कठिन परिश्रम करता है और एक सुखी बेजान धरती से संघर्ष करके, उससे सोना उगाता है। किसान बहुत मेहनती है वह बारिश में काम करता है और चिलचिलाती गर्मी में पसीना बहाता है, ताकि वह देश के सभी नागरिकों को भोजन दे सके। लेकिन किसान को उसकी उत्पादकता के अनुसार आय नहीं मिलती है।

दोस्तों, किसान को कभी-कभी पानी के संकट से बाहर निकलना पड़ता है। देश में मानसून की भविष्यवाणी कभी-कभी गलत हो जाती है, जिसके कारण किसान को असुविधा होती है। देश में जल सिंचाई तकनीक उपलब्ध नहीं है। पानी की कमी और भूमिगत जल स्तर गिरने के कारण यह असंतोषजनक बात है। किसान को अपनी फसलों की सिंचाई के लिए भारी खर्च का सामना करना पड़ता है। किसान पानी की सिंचाई पर भी बहुत खर्च करता है। जैसे की, पंप में बिजली का कनेक्शन जोड़ना या पंप में डीजल डालना, इन सभी चीजों का उपयोग करने से किसान की लागत बढ़ जाती है। उसके कारण किसान को उसकी मेहनत के अनुसार राशि नहीं मिलती है।

दोस्तों, किसान के हित को ध्यान में रखते हुए, केंद्र सरकार ने जल सिंचाई के लिए एक नई योजना शुरू की है। वह योजना "प्रधानमंत्री कुसुम योजना" है, जो देश के वित्तीय मंत्री श्री अरुण जेटली ने 2019 में शुरू की है। यह योजना सौर पंप के तहत जुड़ी हुई है, ताकि किसान को उसका लाभ मिल सकें। सौर ऊर्जा के कई फायदे हैं, और सौर ऊर्जा एक ऐसी ऊर्जा है जो कभी खत्म नहीं हो सकती। सौर ऊर्जा पर्यावरण को दूषित होने से बचाती है। किसानों और खेतों के लिए सौर सिंचाई पंप बहुत मददगार साबित होगा। बिजली की कमी और गांवों में बारिश की कमी के कारण, किसानों को हर साल करोड़ों रुपये का नुकशान उठाना पड़ता हैं। धूप के दिनों में सौर संयंत्र बहुत अधिक बिजली पैदा कर सकते हैं। इसलिए सोलर पंप किसान के लिए बहुत उपयोगी है।

दोस्तों, सोलर पंप के बारे में जानकारी होने से किसान को फायदा होगा, इसलिए यह योजना शुरू की गई है। किसान अपने खेतों में इलेक्ट्रिक पंप और डीजल पंप का उपयोग करते हैं, उस वजह से उन्हें बहुत पैसा खर्च करना पड़ता है। इसलिए किसानों के लिए प्रधानमंत्री कुसुम योजना शुरू की गई है, उसके माध्यम से किसानों को सोलर पंप प्रदान किए जाएंगे, ताकि किसानों की मदद की जा सके और ज्यादा खर्च न करना पड़े। तो आइये दोस्तों, जानते है की प्रधानमंत्री कुसुम योजना का क्या लाभ है, और प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लिए क्या योग्यता आवश्यक है। प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लिए आवेदन कैसे करें।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लाभ

(१) खेतों में सिंचाई करने वाले सोलर पंप से खेती आसान होगी।
(२) प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत, सौर ऊर्जा का उपयोग करके कम से कम 18 लाख सिंचाई पंप चलाने की व्यवस्था की जाएगी।
(३) प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत, बैंक किसानों को बैंक ऋण के रूप में कुल खर्च का 30% प्रदान करेगा।
(४) प्रधानमंत्री कुसुम योजना सौर ऊर्जा के साथ-साथ कई लाभों को बढ़ावा देगी।
(५) सौर ऊर्जा उपकरण स्थापित करने के लिए किसानों को केवल 10% राशि का भुगतान किया जाएगा।
(६) प्रधानमंत्री कुसुम योजना का लाभ सीधे किसानों के बैंक खाते में सब्सिडी के रूप में दिया जाएगा।
(७) सरकार सोलर पंप की कीमत के अनुसार किसानों को सब्सिडी के रूप में 60% प्रदान करेगी।
(८) प्रधानमंत्री कुसुम योजना से बंजर भूमि को भी बहुत लाभ होगा।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के उद्देश्य

(१) प्रधानमंत्री कुसुम योजना से 28 हजार मेगावाट से अधिक बिजली का उत्पादन होगा।
(२) प्रधानमंत्री कुसुम योजना का लक्ष्य वर्ष 2022 तक लगभग सभी किसानों को सौर पंप का लाभ प्रदान करना है।
(३) किसानों के लिए, प्रधानमंत्री कुसुम योजना की लागत कम से कम 1.40 लाख करोड़ रुपये है और उसमें से केंद्र सरकार और राज्य सरकार प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लिए 48 हजार करोड़ रुपये का भुगतान करेगी।
(४) सौर उर्जा से सिंचाई करने के साथ-साथ उसके अलावा बिजली उत्पादन करके ये बिजली ग्रिड को भेजकर उसका लाभ किसानों को ही मिलेंगा।  
(५) सरकार किसानों की बंजर भूमि पर 10,000 मेगावाट सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करेगी।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना की लिए योग्यता

(१) प्रधानमंत्री कुसुम योजना देश के सभी किसानों के लिए है।
(२) आवेदक के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
(३) आवेदक का राष्ट्रीयकृत बैंक का खाता होना चाहिए। 

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लिए आवेदन कैसे करें

(१) प्रधानमंत्री कुसुम योजना का लाभ लेने के लिए जल्द ही सरकारी वेबसाइट बनाई जाएगी।
(२) इस सरकारी वेबसाइट पर जाएं और सभी जानकारी अच्छी तरह से भरें और फॉर्म सबमिट करें।
(३) आवेदन करने के लिए आपको निकटतम ऑनलाइन सेवा केंद्र पर जाना होगा।