12वी के बाद प्रोफेशनल कोर्स की जानकारी - Professional course information after 12th

12वी के बाद प्रोफेशनल कोर्स की जानकारी - Professional course information after 12th

12 वी के बाद क्या करना चाहिए, (12th ke baad kya karna chahiye), अपने प्रोफेशनल कोर्स को कैसे चुने, 12 वी के बाद प्रोफेशनल कोर्स की जानकारी?

Professional course information after 12th

नमस्ते दोस्तों वैसे तो हम उलझन (confused) रहते है, की 12 वी कक्षा की पढ़ाई होने के बाद आगे क्या करना चाहिए। क्यों की हर घर में थोड़ी थोड़ी परेशानी (problem) होती है। कोई छात्र पैसे नहीं होने की वजह से पढ़ाई छोड़ देते है, कुछ छात्र पैसे कमाने के लिए बाहर चले जाते है, वह आगे पढ़ नहीं पाते है। और जिस छात्र के पास पैसे और घर से परिपूर्ण होते है उन्हें आगे क्या करना चाहिए उसकी उन्हें अच्छी राह नहीं मिल पाती है। और वह गलत शौक के राह में चले जाते है जैसे की सिगरेट, गुटखा और खैनी इन सभी गलत चीजों का शौक लग जाता है।

12 वि कक्षा की पढ़ाई पूरी होने के बाद आप पैसे कमाने के बारे सोच रहे हो तो मैं नये विचार लेकर आया हु। आप पढ़ाई के साथ साथ बिजनेस भी कर सकते है, वैसे तो पैसे कमाने के बहोत से तरीके है, पर आप उससे पुरी तरह सहमत नहीं होते है।

प्रोफेशनल कोर्स की जानकारी

(1) ज्वेलरी डिझाइनिंग
(2) इंटीरियर डिझाइनिंग
(3) एनीमेशन डिझाइनिंग

तो यह मैँ आपके लिए 3 कोर्स लाया हु, जो की आप पढ़ाई भी कर सकते है, और जॉब भी कर सकते है।

ज्वेलरी डिझाइनिंग

भारत में पुरातन काल से आभूषण पहनने और उसकी सजावट करने की एक कला रह चुकी है। ज्वेलरी को किसी खास मौके पर पहना जाता है जैसे की शादी, कुछ खास कार्यक्रम में अगर औरतो ने ज्वेलरी नहीं पहनी तो वह उतनी खूबसूरत ही नहीं दिखती है। और सभी लोगो को फैशनेबल ज्वेलरी पहनना अच्छा लगता है। कई लोग फैशन के शौकीन होने के वजह से नए डिझाइनिंग की ज्वेलरी पहनना चाहते है। दुनिया में भारत का रत्न और आभूषण का सबसे बड़ा मार्केट है, लेकिन यह उद्योग ज्यादातर असंगठित क्षेत्र में है जहा सोने पर ज्यादा महत्त्व दिया जाता है। अब सोने के अलावा रत्नो और पत्थरो की भी लोकप्रियता बढ़ रही है। ज्वेलरी डिझाइनिंग के कोर्स में आपको पत्थरो के विभिन्न प्रकार है जैसे की स्किम कलर, डिझाइनिंग थीम, प्रेजेंटेशन और फ्रेमिंग इंडिविजुअल ज्वेलरी पीस का डिझाइनिंग करना, पुरुषो की ज्वेलरी डिझाइनिंग करना पोशाक की ज्वेलरी डिझाइनिंग करना यह सभी कोर्स पढाये जाते है।

इंटीरियर डिझाइनिंग

इंटीरियर डिझाइनिंग यह कोर्स उन छात्रों के लिए है जिनको अपने घर को डेकोरेट करना अच्छा लगता है। और  जो की वह क्रिएटिव है। इंटीरियर डिझाइनिंग में उन्हें क्लाइंट की जरूरत के हिसाब से इंटीरियर डिझाइनिंग करना होता है। इंटीरियर डिझाइनिंग में लोगो के घर को आकर्षक लुक देने के अलावा खुली जगह का बेहतर इस्तेमाल करने के बारे में बताया जाता है। यह कोर्स करने के लिए क्रिएटिव और कम्युनिकेशन होना चाहिए जिस की वजह से क्लाइंट से अच्छी बाते करते आना चाहिए। इस कोर्स को करने वाले छात्रों को संस्थान का डिप्लोमा मिलता है। इस कारण आप १२ वी कक्षा के बाद इंटीरियर डिझाइनिंग के लिए आवेदन कर सकते है।

एनीमेशन डिझाइनिंग

 एनीमेशन डिझाइनिंग इस कोर्स को करने वाला छात्र क्रिएटिव होना चाहिए। एनीमेशन डिझाइनिंग यह प्रोफेशनल कोर्स में ड्रॉइंग डिझाइनिंग और डिझाइनिंग के सॉफ्टवेअर से जुडी तकनिकी जानकारी का पता होना चाहिए। इसके अलावा आप बैचलर ऑफ़ आर्ट की भी पढाई कर सकते है। और क्रिएटिव छात्रों के लिए इससे अच्छा एनीमेशन डिझाइनिंग और ग्राफिक्स डिझाइनिंग कोर्स है। इस कोर्स से आप अच्छा वेतन पा सकते है। एनीमेशन डिझाइनिंग कोर्स में हम मूवी बनाना सीख सकते है। और बहोत नई चीजे सिखने मिलती है जो की हमारे जीवन में बहुत ही मायने रखती है।