भोजन और पोषक तत्वों का वर्गीकरण कैसे करे? - Classification of food and nutrients

भोजन और पोषक तत्वों का वर्गीकरण कैसे करे? - Classification of food and nutrients

भोजन और पोषक तत्वों का वर्गीकरण कैसा करना चाहिए, (bhojan or poshak tatw ka vargikarn kaisa karna chahiye),पोषक तत्वों क्या है, हमारे शरीर के लिए कोणते पोषक तत्वों की आवश्यकता है.

Classification of food and nutrients

हमारे शरीर के लिए कोणते पोषक तत्वों की आवश्यकता है?

हेलो दोस्तों नमस्कार आज हम अपने शरीर के लिए कोणते पोषकतत्व बहोत लाभकारी है, इसके बारे में हम जानेंगे क्यों की आज इस रंगमंच माहोल में हम अपने शरीर (body) को कोणते पोषकतत्व की जरूरत है हम इसके तरफ ध्यान ही नहीं देते है। जैसे की हमे कोणते पोषकतत्व खाना चाहिए, किस पोषकतत्व से हमे कितनी ऊर्जा मिलती है, ये हमे आज के भागदौड़ वाले जमाने में पता ही नहीं है।

हमारे रोज के खाने में कोणते पोषकतत्व व अनाज लिया जाना चाहिए। ये समाज के परंपरा अनुसार खाना खाने की आदत और आर्थिकस्थिति के अनुसार पोषणतत्व उपयोग करते है। शरीर को उपयोगी रहनेवाले मूल पोषक तत्व के बारे में हम जानेंगे।

पोषक तत्वों के प्रकार   

(1) तृणधान्य (cereals)
(२) कडधान्य और दाल (pulses and lentils)
(३) सब्जी (vegetable)
(4) तेलबिया और कवक फल (nuts and oil seeds)
(5) दूध और दूध के उत्पादक (milk and milk product)
(६) फल (fruits)
(7) शक़्कर और गुड (sugar and jaggery)
(8) तेल, घी और स्निग्ध पदार्थ (oil and fats)
(9) नमक, मसाले के पदार्थ (salt and condiment)
(10) मांसाहारी (non-vegetarian)

तृणधान्य (Cereals)

गेहू, चावल, ज्वारी, बाजरा मका इन सभी चीजों से हमे बहुतांश ऊर्जा (energy), शक्ति (power) मिलती है। ये धान्य हमे सस्ते दाम में और आसानी से मिल जाते है। इस लिए ये सभी चीजे हमारे रोज के खाने में उपलब्ध रहती है। इसमें से हमे कर्बोदक (carbohydrates) सबसे ज्यादा मिलता है और प्रोटीन (proteins) थोड़ा कम प्रमाण में मिलता है। फिर भी दोस्तों हमे रोज ये सभी खाना चाहिए क्यों की हमे अपनी सेहत का भी ध्यान रखना चाहिए। और ज्यादा मात्रा में प्रोटीन्स हमारे शरीर को मिलता रहें।

कडधान्य और दाल (Pulses and Lentils) 

दोस्तों हम जानेंगे की कडधान्य और दाल में कौन कौन सी चीजे आती है, जैसे की तुवल, मुंग, मटकी, मका, बटाना, उडद ये सभी चीजे आती है। इन सभी चीजों में से हमे बहुत ज्यादा मात्रा में प्रोटीन्स (proteins) मिलते है, और थोड़ा कम मात्रा में कर्बोदक (carbohydrates) मिलते है। हमारे शरीर को बहुत ज्यादा मात्रा में प्रोटीन्स (proteins) देने का मुख्य कारण दाल और कडधान्य है, जो की हमे बहुत ही आसानी से मिल जाते है। हमारे खाने में अगर तृणधान्य (cereals) और कडधान्य और दाल रहेंगी तो हमारे शरीर को अमीनो आम्ल (Amino acids) मिलेगा जो की वह हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभकारी है।

सब्जी (Vegetable)

हरी सब्जी (Green leaf vegetables)

हेलो दोस्तों आज हम ये जानेंगे की सब्जी (vegetable) में हमे अपने शरीर के लिए किस प्रकार के पोषकतत्व मिलते है। सब्जी में भी कई प्रकार आते है जैसे की फलसब्जी आती है। अपने देश में अनेक प्रकार की वनस्पति मिलती है जिसका उपयोग हम सब्जी के रूप में करते है। भारत के सभी प्रांतो में हरी सब्जी के कई प्रकार मिलेंगे जो की हमे उनकी संख्या भी नहीं पता कितनी है। उदा, पालक, मेथी, संभार, पुदीना आदि का समावेश होता है। हरी सब्जी में कैल्शियम, लोह, बीटा -कैरोटीन और जीवनसत्त्व के हमें कई पोषकतत्व हरी सब्जी द्वारा मिलते है। शरीर बढ़ाने के लिए और रोग मुक्त होने के लिए हमे इन सब्जीयों का वापर करना चाहिए। इस प्रकार हरी सब्जीया हमारे सेहत के लिए बहुत ही लाभकारी है।

फलसब्जी (Fruit vegetables)

दोस्तों हमे फल सब्जी से भी बहुत से पोषकतत्व मिलते है। जैसे की विटामिन ''क'' और क्षार मिलता है। फल सब्जी में हमे भेंडी, भटा, करेला, लवकी, कददू, गोभी इस तरह फल सब्जी का समावेश होता है। और यह फल सब्जी रोज हमारे खाने में आते है, और हमारे मुँह का स्वाद भी बदल जाता है जिस से हमारे खाने में रुची आती है, और सेहत भी तंदरुस्त रहती है।

तेलबीज और कवक फल (Nuts and Oil Seeds)

तेलबीज क्या है और यह हमारे जीवन के लिए कितना लाभकारी है। हमारे जीवन के लिए बहुत ही गुणकारी है, इस से हमे स्निग्ध पोषकतत्व और प्रोटीन्स (proteins) मिलते है। तेलबीज में जैसे की फलीदाना, तिल, बदाम, राई, काजू यह सभी आते है। इस चीज का हमे रोज के दैनदिन जीवन में वापर करना चाहिए। हमे इससे बहुत ही लाभ होता है।

दूध और दूध के उत्पादक (Milk and Milk Product) 

दूध हमारे जीवन के लिए कितना उपयोगी और लाभकारी है यह आपको तो पता ही है। छोटे बच्चो के लिए दूध  बहुत ही उपयोगी है। हमारे देश के खिलाड़ियों के लिए अच्छी ताकत और ऊर्जा पाने के लिए दूध का अधिक सेवन होता है। अपने रोज के दैनदिन जीवन में किमान 150 g.m दूध का सेवन करना चाहिए। उससे हमे कैल्शियम और प्रोटीन्स मिलते है जो की हमारे शरीर के लिए बहुत ही उपयोगी और लाभकारी है। ग़र्भवती महिला और छोटे बच्चो को नियमित रोज किमान 250 g.m दूध का सेवन करना चाहिए। दूध से कई प्रकार के पदार्थ तयार होते है जैसे की दही (curd), ताक, दूध पावडर और घी यह आदि तयार होते है।

फल (Fruits )

फल हमारे लिए कितना लाभकारी और गुणकारी है आपको पता है। हमारे देश में अलग अलग प्रकार के फल खाने को मिलते है जैसे की आम, सेफ, केला, जामुन, अंगूर, अनार, पपई, चिकू, आवला, जाम, मोसंबी, संतरा यह सभी फल हमे खाने को मिलते है। इन सभी फलो में हमे विटामिन "क " मिलता है। परंतु आवले में अधिक मात्रा में विटामिन "क "मिलता है। पीले रंग वाले फलो में जैसे आम और पपई इस फल में हमे बीटा - कैरोटीन मिलता है। केले में कर्बोदक (carbohydrates) अधिक होता है इससे हमे शक्ति (energy) मिलने में बहुत ज्यादा उपयोग और लाभकारी होता है। हमे ताजे फल खाना चाहिए इससे हमारी सेहत भी बहुत अच्छी रहती है।


शक़्कर और गुड (Sugar and Jaggery) 

शक़्कर और गुड़ के बारे में आप थोड़ा तो जानते ही होंगे फिर भी मैं आपको उनके बारे में थोड़ासा बताऊंगा। शक़्कर, गुड़, शहद (honey), ग्लूकोज़ यह सभी मीठे पदार्थ में आते है। सरबत और कोल्ड्रिंक मे इन चीजों का उपयोग होता है। अगर हमारे शरीर का रक्तदाब कम होता है याने घबराहट लगती है,तो हमें शक़्कर और नमक का पानी मिला करके के पीला देते है,इस प्रकार शक़्कर हमारे लिए गुणकारी माना जाता है। गुड़ में हमे लोह (iron) मिलता है, जो की हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक है। शक़्कर का उपयोग ज्यादा नहीं करना चाहिए क्यों की छोटे बच्चो के दाँत को कीड़ा लगता है और बड़े व्यक्ति के लिए यह बहुत ही हानिकारक है उससे ह्रदयरोग याने दिल का दौरा होने का संभावना होती है।


तेल, घी और स्निग्ध पदार्थ (Oil and Fats)

स्निग्ध पदार्थ हमारे जीवन में कितना लाभदायक और गुणकारी है यह आपको पता ही है। स्निग्ध पदार्थ फलीदाना, तिल, सोयाबीन, नारियल, पाम, सूर्यफुल इनसे जो निकलने वाला खाद्य तेल जिसे हम हाड्रोजिनेटेड ऑइल कहते है, जैसे की घी, मार्गारिन इसे हम अपने रोज के खाने में इस चीज का उपयोग करते है। इन सभी चीजो से हमे शक्ति (power) मिलता है। सोचने की बात यह है, की हमे 1 ग्राम स्निग्ध पदार्थ से 9 कि. कैलरी मिलती है तो सोचो की हमारे लिए कितना लाभदायक है। इन सभी चीजो में सबसे ज्यादा फैट रहता है। हमारे खाने को टेस्टी बनाने के लिए हम घी और तेल का उपयोग करते है। फलीदाने के तेल में पोलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड्स मध्यम प्रमाण में रहते है। चावल के कोंडे से निकलने वाला तेल और फलीदाने से निकलने वाला तेल इन दोनों में एक ही घटक रहते है।


नमक, मसाले के पदार्थ (Salt and Condiment)

हेलो दोस्तों आज हम जानेंगे की हमारे खाने को कौन सी चीजे तडफदार, चवदार, लजीज बनाती है। और हमारे खाने को मसालों की जरूरत क्यों है, और यह मसाला क्या है। खाने को लजीज बनाने के लिए हमे मिरची, मसाले और नमक इन सभी चीजों को मिलाने के बाद हमारा खाना लजीज बनता है। हमे इन मसालों में से आयरन, पोटॅशियम और छोटे छोटे खनिज पदार्थ हमें खाने मिलते है, जो की हमारे शरीर को बहोत उपयोगी है।
मिरची और धनिया में से हमे बीटा - केरोटिन यह घटक मिलता है। मसालों के कई पदार्थो में औषधी के गुण मिलते है। खाने को चवदार बनाने के लिए हम नमक का उपयोग करते है। नमक से हमे सोडियम और क्लोरीन ये दो मूलद्रव्ये मिलते है, जो की हमारे शरीर को बहोत लाभदायक है।


मांसाहारी (Non-vegetarian) 

मांसाहारी के बारे में आपको पता है, फिर भी मैं आपको इस के बारे में थोडासा बताना चाहता हु। मांसाहारी में अंडे, मटन, चिकन, मच्छी ये सभी आते है और ये हमे जानवर के मांस से और पक्षियों के द्वारे मिलते है। अंडे में से हमे जीवनसत्त्व ''क'' मिलता है और हमे छोटे बच्चो और गर्भवती महिला को हमे रोज खाने में अंडे देना चाहिए। मटन या चिकन से हमें विटामिन ''बी'' मिलता जो की बाकी वनस्पती पदार्थो से नहीं मिलता है।